Anyay Kaal Ke Das Saal

पिछले दस सालों में भारत के हर वर्ग के साथ अन्याय और अत्याचार हुए हैं. नरेन्द्र मोदी सरकार के दस साल अन्याय काल की तरह देखे जा सकते हैं. जनविरोधी नीतियाँ, झूठ, अलोकतांत्रिक कार्रवाइयाँ, विभाजनकारी गोड़सेवादी एजेंडा, दमन की प्रवृत्ति इन दस सालों में साफ़ दिखलाई पड़ती है. देश के साथ ये आर्थिक और सामाजिक अन्याय महिलाओं, नौजवानों, किसानों और श्रमिकों के साथ हो रहा है, ख़ास तौर उन लोगों से जो आदिवासी, दलित, पिछड़े, अन्य पिछड़े और अल्पसंख्यक वर्गों से आते हैं. इसके कारण 140 करोड़ भारतीयों के जीवनयापन, तरक़्क़ी, सुरक्षा, स्वास्थ्य, शिक्षा, रोज़गार, प्रतिनिधित्व और भागीदारी को लेकर गंभीर चुनौतियाँ और सवाल खड़े हुए हैं.

    • मणिपुर, असम से लेकर कश्मीर तक और भारत के अन्य हिस्सों में भी, नागरिकों को ऐसा लग रहा है कि वे बाक़ी लोगों से कम भारतीय हैं.
    • किसान, मज़दूर और गरीब के पक्ष में खड़ी होने, उनके लिए ज़िंदगी आसान करने के बजाय सरकार उनकी दिक़्क़तें बढ़ाने में लगी है.
    • पिछले 10 साल में बेरोज़गारी चार गुना ज़्यादा बढ़ी है, 1 करोड़ से 4 करोड़ तक, जबकि वायदा था हर साल दो करोड़ रोज़गार जोड़ने का.
    • जबकि हर 100 ग्रेजुएट नौजवानों में से 58 के पास ही रोज़गार है, 10 लाख सरकारी नौकरियाँ ख़ाली पड़ी हैं और भर्ती परीक्षाओं में घपले हो रहे हैं.
    • अग्निवीर का जवान भी देश के लिए लड़ता है, पर उसकी शहादत के साथ सरकार सौतेला बर्ताव करती है.
    • 1 लाख से ज़्याद किसानों ने आत्महत्या की हैं, जबकि वायदा था कि किसान की आमदनी दोगुनी हो जाएगी.
    • 700 से ज़्यादा किसानों ने अपने उस हक़ के लिए संघर्ष करते हुए अपनी जान दी, जिसका वायदा सरकार ने ही उनसे किया था.
    • 14.5 लाख करोड़ का क़र्ज़ कारपोरेट घरानों को माफ़ किया जाता है, और किसान का एक रूपया भी नहीं.
    • दस साल में महिलाओं के खिलाफ अपराध लगभग दुगना हो चुके हैं। औसतन दस दलित महिलाएँ रोज़ बलात्कार का शिकार होती हैं.
    • मोदी-राज में एक गरीब मज़दूर अपने पुरानी आमदनी की तुलना में अब 7% कम कमा रहा है. जबकि इसी दौरान अदानी की आमदनी 3200% बढ़ी है.
    • हर छह ग़रीबों में से पाँच पिछड़ी जातियों में से हैं.
    • 7.6 करोड़ लोगों को मनरेगा काम नहीं मिल सकता है, क्योंकि उनके कार्ड कैंसिल कर दिये गये हैं, और 11,000 करोड़ रूपयों का भुगतान रोका हुआ है.

भारत जोड़ो न्याय यात्रा इन अन्यायों के खिलाफ़ लोगों की आवाज़ बुलंद कर रही है, और साथ साथ समस्या की समाधान भी ढूंढ रही है।

शेयर करें

Comments (25)

  1. Ravindra kumar yadav

    Rahul Gandhi ji desh ke sach che sipahi hai aap aage badiya hum aapke sath hai

  2. Ashwin Reddy Panthika

    Jai Congress! I support Mr Rahul Gandhi on the longest record of Yatra for the people of our country!!! Congratulations. Hope for the change! Team RG

  3. Naveen Jay jawan jay kishan Bharth jodo yatra

    Supreb. Jay jawan jay kishan
    Bharth jodo yatra !!!!!!!!!!!!!!

  4. अनिलकुमार वक्टे पाटील

    जय होो राहुल जी,
    हम किसान आपके साथ हैं

  5. सुनिल कुमार वक्टे पाटील

    राहुल जी आप संघर्ष करो हम आपके साथ है
    जय जवान,जय किसान ✋✋✋

  6. Amit Yadav

    भारत जोड़ो न्याय यात्रा कार्यक्रम बहुत ही शानदार रहा हैं और इसके लिए मैं राहुल गांधी जी को धन्यवाद देता हूं कि आपने भारत के सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेश में भ्रमण किया, जनता से मिलने का काम किया, उनको समझने का काम किया। इससे मैं काफी प्रभावित हुआ हूं और कांग्रेस को Vote देने तथा दिलवाने के लिए प्रतिबद्ध हूं। मरते दम तक कांग्रेस ही मेरा परिवार रहेगा। धन्यवाद राहुल गांधी जी। 🙏🙏🇮🇳🤚🤚 जुड़ेगा भारत जीतेगा INDIA

  7. Aashish Mali

    Rahul ji Ab sidha science ko lekar rajniti kijiye sir fir ye hindu Muslim karne walo ka sufda saf ho jayega ,,, yahan sirf naukari karne Wale naukar paida hote hain aur Malik ,,, lekin technology me bahut pichhe,,, sayad ye mudda aapke liye salah de 🙏 thoda tarkashil hona chahiye 😁 koi kahta hai ki main Hindu hu , to koi Muslim or bhi hai jo apne aap ko alag alag dharm jati ke apne ko mante hai , ye sare jativad , bhedbhav, dharm hi is bhrashtachar tanashah sarkar ki takat hai ,, ekta Lao Bharat bachao , science lao , Rss bhagao ?

एक टिप्पणी छोड़ें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *