राहुल गांधी: मोदी चाहते हैं कि आप दिनभर मोबाइल पर रहो, और भूखे मर जाओ

आज भारत जोड़ो न्याय यात्रा का 52वां दिन बहुत ही खास रहा। आज के मुख्य कार्यक्रम में कांग्रेस नेता राहुल गांधी का उज्जैन के ऐतिहासिक श्री महाकालेश्वर मंदिर का दौरा है। पिछली बार राहुल गांधी ने 29 नवंबर, 2022 को भारत जोड़ो यात्रा के दौरान इस पवित्र मंदिर में दर्शन किया था। महाकाल का ये दर्शन इसलिए भी खास था क्योंकि धर्म की राजनीति करने वाली भाजपा लगातार राहुल गांधी के मंदिरों में जाने पर तरह तरह के अड़ंगे लगा रही है। फिर चाहे असम में भाजपा सरकार ने श्री शंकरदेव जी के मंदिर जाने से राहुल को रोक दिया या फिर वाराणसी के काशी विश्वनाथ मंदिर में उनके दर्शन की फोटो जारी नहीं की। राज्य और केंद्र की भाजपा सरकारें राहुल गांधी के खिलाफ इस तरह की हरकतें इसलिए कर रही हैं क्योंकि वो डरे हुए हैं।

सुबह यात्रा सारंगपुर से शुरू हुई और शाजापुर की तरफ निकल पड़ी। जैसा कि हर रोज हो रहा है हजारों की भीड़ यात्रा में राहुल गांधी के साथ मिलकर चलती रहती। शाजापुर पहुंचने पर टंकी चौराहा से शुरू होगी और पेट्रोल पंप के पास राहुल गांधी ने जनता को संबोधित किया। अपने संबोधन में उन्होंने युवाओं से कहा कि- ‘हमारे यहां एक युवा 6-7 घंटे मोबाइल में रिल्स देखने में बिताता है। और मोबाइल बेचकर चीन के युवा और फोन बेचने वाले भारत के उद्योगपति फायदा कमाते हैं। चीन का युवा फायदा कमाता है और हमारा युवा रिल्स देखता है। मैं चाहता हूं कि ऐसा दिन आए कि हमारी पॉकेट में रहने वाले मोबाइल फोन पर मेड इन मध्यप्रदेश लिखा हो। मोबाइल फोन से पैसा हमारा युवा कमाए और चीन के युवा हमारे यहां के बने फोन पर रिल्स देखें। मोदी जी ये नहीं चाहते। मोदी चाहते हैं कि आप दिनभर मोबाइल पर रहो, जय श्री राम बोलो और भूखे मर जाओ।’

इस संबोधन के बाद यात्रा आगे बढ़ चली। नैनावाद में भारत जोड़ो न्याय यात्रा और राहुल गांधी के लिए एक स्वागत समारोह का आयोजन किया गया था। यात्रा इस समारोह के लिए रूकी और फिर आगे दोपहर के ब्रेक के लिए चल पड़ी।

दोपहर के ब्रेक के बाद यात्रा वापस शुरू हुई। लोगों का उत्साह देखते ही बन रहा था, राहुल की जीप को भी रास्ता बनाने में मुश्किल हो रही थी। रास्ते में सिर्फ कांग्रेस समर्थक ही नहीं थे बल्कि आज कुछ भाजपा समर्थक दिखे। बीजेपी का झंडा लिए वो राहुल गांधी पर फब्तियां कस रहे थे। उन्हें लगा था कि राहुल गांधी गुस्सा होंगे, फिर उनके वीडियो चलाकर उन्हें बदनाम करने का मौका मिल जाएगा। लेकिन राहुल गांधी तो राहुल गांधी है। जिसने अपने पिता के हत्यारों को माफ कर दिया वो इन नेताओं से भला क्या ही गुस्सा होगा। जिसने देश में मोहब्बत की दुकान खोलने का बीड़ा उठा रखा है वो किसी पर गुस्सा कैसे हो सकता है। ठीक यही हुआ। राहुल गांधी ने अपनी जीप रूकवाई और उतरकर उन बीजेपी समर्थकों के पास चले गए। उनसे पूछा कि भईया कैसे हो? इतना सुनते ही उन लड़कों का सारा विरोध काफूर हो गया। जो राहुल गांधी के दुश्मन बनकर आए थे, दोस्त बनकर विदा हुए। ये है मोहब्बत की ताकत।

राहुल गांधी उज्जैन के प्रसिद्ध महाकाल मंदिर में दर्शन और पूजा करने के लिए गए। यहां भी बीजेपी के समर्थकों ने राहुल गांधी को मोदी-मोदी के नारों से डराने की कोशिश की। लेकिन वो ये बात भूल गए कि वो राहुल गांधी है, डरेगा नहीं। मंदिर में राहुल गए। महाकाल के चरणों में राहुल गांधी ने शीश नवाया और देशवासियों के स्वास्थ्य और सुरक्षा के लिए प्रार्थना की। मंदिर में दर्शन के बाद यात्रा वापस अपनी राह निकल पड़ी। गोपाल मंदिर से राहुल गांधी ने हजारों की जनता के साथ अपना रोड शो शुरू किया। फिर से जनता में वही उत्साह। राहुल गांधी जिंदाबाद के नारे और भारत माता की जय की हुंकार। पूरा वातावरण यात्रामय हो गया था। रोड शो गोपाल मंदिर से देवास गेट तक चला। देवास गेट पर राहुल गांधी ने उपस्थित जनसभा को संबोधित किया।

आज राहुल के साथ जीप पर दो बच्चियां उनका साथ देने आई थी- बुलबुल और रिद्धिमा। यहां पर जनता को संबोधित करते हुए कहा- ‘नफरत के बाजार में मोहब्बत की दुकान खोलना इतना मुश्किल नहीं होता। जब मैं यहां आ रहा था तो कुछ लोग बीजेपी के झंडे लिए खड़े थे और चिल्ला रहे थे। मैं गाड़ी से उतरा मैंने जाकर उनसे हाथ मिलाया और उनसे पूछा कि भईया कैसे हो? उन्होंने चिल्लाना बंद कर दिया और जब मैं जाने लगा तो मुझे प्यार से विदा किया। जो अपने जीवन का सामना नहीं कर सकता है, जो डर जाता है उसके अंदर ही नफरत पैदा होती है। लेकिन जो जीवन का सामना करता है, वो डरता नहीं है। क्योंकि वो जानता है कि मैं कर सकता हूं, मेरे अंदर क्षमता है, उसे डर नहीं लगता।’

इस संबोधन के बाद यात्रा रात्रि विश्राम के लिए बड़नगर की और चल पड़ी।

“देश का कोई भी व्यक्ति, जो अपने ऊपर अन्याय महसूस कर रहा है, जिसके ऊपर किसी भी तरह का अन्याय हो रहा है, वो न्याय योद्धा बन सकता है। अगर आप भी न्याय योद्धा बनना चाहते हैं तो 9891802024 पर मिस्ड कॉल करें।”

शेयर करें

एक टिप्पणी छोड़ें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *