राहुल गांधी- मोबाइल 21वीं सदी का नशा है

भारत जोड़ो न्याय यात्रा का तीसवां दिन छत्तीसगढ़ के कोरबा से शुरू हुआ। आज फिर से हजारों लोगों की भीड़ यात्रा के साथ जुड़ने के लिए खड़ी थी। कोरबा शहर से आज की यात्रा शुरू हुई। कोरबा शहर में NTPC का पावर प्लांट है, देश की कोयला संपदा का थोड़ा भाग तो है ही साथ ही छ्त्तीसगढ़ के चावल के खेत भी यहां हैं। न्याय यात्रा के साथ आज जो भीड़ जुट रही है वो यात्रा के सफल होने का प्रमाण है। हर राज्य, जिले और जगह की परेशानियों, उनकी दुश्वारियां अलग अलग हैं, लेकिन हर राज्य और शहर जहां से भी यात्रा गुजरी है वहां पर लोगों का ये असीम प्यार गवाही देता है कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी की बात और उनकी शख्सियत सुदूर इलाकों तक भी पहुंच रही है। न्याय की मांग को सारा देश आत्मसात कर रहा है। हर कोई सरकार के अन्याय से अब परेशान हो चुका है।

कोरबा शहर में कांग्रेस नेता राहुल नेता ने अपना रोड शो खत्म किया और वहां मौजूद हजारों समर्थकों को संबोधित किया। आज के उनके भाषण में अलग ही तेज था। उन्होंने लोगों से सीधा संवाद किया और इतना ही नहीं लोगों को भी अपने साथ जोड़ा। उनकी परेशानियों को सुनकर अपनी बात को व्यक्त किया। श्री गांधी ने आज फिर से न सिर्फ केंद्र सरकार को घेरा बल्कि युवाओं को भी ललकारा।

उन्होंने कहा- ‘बीजेपी कहती है हिंदू राष्ट्र, 74 प्रतिशत को कुछ नहीं मिल रहा है। राम मंदिर के उद्घाटन में कोई गरीब आदमी नहीं दिखा। अमिताभ बच्चन, ऐश्वर्या राय, अदानी, अंबानी, सारे बिजनेस वाले दिखे, एक किसान, एक मजदूर, एक गरीब आदमी नहीं दिखा, एक बेरोजगार आदमी नहीं दिखा। ये जो 74 प्रतिशत पिछड़े, दलितों के साथ 2-3-5 प्रतिशत जनरल कास्ट के गरीब लोग और जोड़ दो, इनके लिए इस देश में कुछ नहीं बचा। इनको सिर्फ थाली बजानी है या मोबाइल दिखाना है। अगर 100 साल पहले कोई आपसे पूछता कि नशा किन चीजों से होता है तो आप मुझे बताते, शराब, गांजा, चरस। 21वीं सदी का नशा है मोबाइल। ये नशा युवाओं को इसलिए लगाया जा रहा है क्योंकि अंबानी, अदानी, आपके ध्यान को भटकाना चाहते हैं।’

इसके साथ ही श्री गांधी ने कहा- ‘कोल इंडिया पब्लिक सेक्टर यूनिट है। ये जनता की संपत्ति है। सरकार कोल इंडिया को धीरे धीरे बंद करना चाहती है। फिर इसको प्राइवेटाइज करके कहेंगे कि अदानी जी को दे देते हैं। सारे कर्मचारी को VRS दे दिया जाएगा। अब ये पैसा अंबानी, अदानी, बिड़ला, टाटा और आजकल तो बाबा रामदेव के यहां भी जा रहा है। आम आदमी अगर बैंक से लोन लेना चाहता है तो बैंक उन्हें मना कर देंगे। मैं चाहता हूं कि हिंदुस्तान इनकी आवाज सुने, मीडिया इनकी बात करे। मीडिया में इनका भी चेहरा आए। देश के सामने सबसे बड़ा मुद्दा ये है कि हिंदुस्तान का जो धन है आज इस धन में से मुझे कितना मिला? ये सवाल आपको रोज सुबह उठकर खुद से करना है।’

आज की यात्रा में रास्ते में एक मजेदार वाकया देखने को मिला। कुछ भाजपा कार्यकर्ता राहुल गांधी के खिलाफ नारे लगाते दिखे, श्री गांधी अपनी गाड़ी से उतरे और उनसे हाथ मिलाने लगे। बस फिर उन भाजपा कार्यकर्ताओं के चेहरे की खुशी देखने लायका थी।

दोपहर को साहुल गांधी बुनकर समाज के लोगों से मिले। कोरबा शहर सिल्क के उत्पादन सेंटर में श्री गांधी ने ये मुलाकात की। कोरबा सिल्क का उत्पादन सिर्फ कोरबा और चंबा जिले में ही होता है। ये सिल्क दुर्लभ और उच्च गुणवत्ता वाला उत्पाद है। इसे मूल रूप से छत्तीसगढ़ के देवांगन समुदाय द्वारा बनाया जाता है। यह अपनी मजबूती और प्राकृतिक सुनहरे रंग की वजह से बेशकीमती माना जाता है। अपनी इसी खासियत की वजह से कोरबा सिल्क को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक बड़ा बाजार मिला है।

रास्ते में राहुल गांधी हसदेव बचाओ आंदोलन के लोगों से भी मिले। हसदेव अरण्य, छत्तीसगढ़, झारखंड और उड़ीसा से लगा हरा-भरा जंगल है। इसे इस इलाक़े का फेफड़ा भी कहा जाता है। ये इलाक़ा सदियों से रहने वाले आदिवासियों का घर है। 'हसदेव अरण्य बचाओ संघर्ष समिति' इसी जंगल को बचाने के लिए संघर्षरत है। इन्होंने श्री गांधी से अपनी समस्याओं के बारे में बात की, साथ ही अपनी मांग से भी उन्हें अवगत कराया।

यात्रा के रात्रि विश्राम की व्यवस्था छ्त्तीसगढ़ के शिवनगर ग्राम पंचायत में की गई थी। यात्रा वहां के लिए निकल गई।

“देश का कोई भी व्यक्ति, जो अपने ऊपर अन्याय महसूस कर रहा है, जिसके ऊपर किसी भी तरह का अन्याय हो रहा है, वो न्याय योद्धा बन सकता है। अगर आप भी न्याय योद्धा बनना चाहते हैं तो 9891802024 पर मिस्ड कॉल करें।”

शेयर करें

एक टिप्पणी छोड़ें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *