राहुल गांधी: MSP और जाति जनगणना कांग्रेस का वादा

भारत जोड़ो न्याय यात्रा का आज 38वां दिन था। आज यात्रा दोपहर 2 बजे अमेठी ज़िले के फुर्सतगंज से शुरू होकर रायबरेली और लखनऊ की ओर बढ़ी। इसके पहले सुबह में कांग्रेस नेता राहुल गांधी, सुल्तानपुर के ज़िला सिविल कोर्ट में पेश हुए। अगस्त 2018 में एक भाजपा नेता द्वारा दायर किए गए मानहानि के मामले में 36 घंटो पहले श्री गांधी को पेशी का समन जारी किया गया। कोर्ट ने श्री गांधी जमानत दे दी, फिर वो अमेठी से लखनऊ तक की अपनी यात्रा में निकले।

इस तरह की हरकतें करके बीजेपी सरकार अपने डरे होने का सबूत दे रही है। जनवरी से यात्रा शुरू हुई है, तभी से बीजेपी सरकार तरह तरह के तिकड़म लगाकर राहुल गांधी को डराने की कोशिश कर रही है। न्याय यात्रा को बाधित करने में बीजेपी कोई कसर नहीं छोड़ रही। लेकिन वो ये भूल रहे हैं कि जो डर गया वो राहुल गांधी नहीं।

भारत जोड़ो न्याय यात्रा जारी रहेगी। न तो राहुल गांधी खामोश होने वाले हैं और न ही कांग्रेस डरने वाली है। अमेठी में एक बार फिर से हजारों लोगों का हुजूम श्री गांधी का बेताबी से इंतजार कर रहा था। अपनी लाल रंग की खुली जीप पर बैठे राहुल गांधी के स्वागत में पूरे रास्ते लोग एक ही नारा लगा रहे थे- देखो, देखो, कौन आया, शेर आया, शेर आया।

बीजेपी जनता के इसी प्यार और उत्साह से थर्रा गई है और बौखलाहट में लगातार प्रपंच रच रही है। लेकिन बीजेपी जितना परेशान कर रही है जनता में राहुल गांधी का क्रेज उतना ही बढ़ता जा रहा है। अमेठी के बछरांवा में राहुल गांधी ने जनसभा को संबोधित किया। आज फिर से उन्होंने केंद्र सरकार पर तीखा हमला बोला। यहां की जनसभा में अपने संबोधन की शुरूआत में ही एक युवक को राहुल गांधी ने अपनी जीप पर बुला लिया। उस युवक ने एक टी-शर्ट पहन रखी थी जिस पर लिखा था- 69000 शिक्षक भर्ती आरक्षण घोटाला, उस युवक ने एक बैनर भी हाथ में ले रखा था जिसमें लिखा था- 6800 OBC, SC शिक्षकों को नियुक्ति दिलाएं। वो युवक सरकार की ढीली प्रक्रिया से इतना परेशान हो चुका था कि श्री गांधी के सामने जाते ही दु:ख में बिलख-बिलख कर रो पड़ा। श्री गांधी की आवाज में युवाओं के इस दुख और असंतोष का आक्रोश अब साफ झलक रहा है।

उन्होंने युवाओं को संबोधित करते हुए कहा- ‘इस देश में दलित, पिछड़े और आदिवासी 24 घंटे दबाए जाते हैं, उन पर थूका जाता है। पेपर लीक में क्या हुआ मैं आपको बताता हूं, इस देश की लगभग 90% आबादी को यह कहा जाता है कि बेटा तुम पढ़ लो, तेरे पिता जी के पॉकेट में से 5-6 लाख निकाल कर प्राइवेट कॉलेज और कोचिंग में डाल दें तो फिर तुम्हें आईएएस, आईपीएस बनाएंगे। फिर क्या होता है? आपका पेपर लीक हो जाता है और वही दो तीन पांच परसेंट लोगों को सेम परसेंट मार्क्स मिल जाते हैं बिना कोई काम किये, आप देखते रह जाते हो। आप लोगों को अपना हक लेना है, 73 परसेंट को खड़े होकर अपना हक लेना है और हक लेने का पहला कदम जाति जनगणना है।’

युवाओं को अपने भविष्य के लिए सिर्फ एक ही चेहरा दिख रहा है- राहुल गांधी। पिछड़ी जाति के लोगों को अपनी जाति की वजह से दबाया जा रहा है और कांग्रेस और राहुल गांधी को सरकार से सवाल करने के लिए दबाया जा रहा है। लेकिन अब न तो राहुल गांधी रूकेंगे न ही युवा झूठे भाषणों के छलावे में आएंगे।

इस संबोधन के बाद न्याय यात्रा आगे निकल पड़ी। पूरे रास्ते वही मंज़र। हजारों लोगों का हुजूम, राहुल गांधी के समर्थन में गगनभेदी नारे। रायबरेली पहुंचने पर भी श्री गांधी के इंतजार में हजारों की संख्या में लोग खड़े थे। यहां भी एक बार फिर से राहुल गांधी रूके और लोगों को संबोधित किया। श्री गांधी ने यहां भी जातिगत जनगणना की बात कही और लोगों को अपने हक़ के प्रति जागरूक होने का आह्वान किया। श्री गांधी ने कहा- ‘73 प्रतिशत लोगों को महंगाई, बेरोजगारी सहनी पड़ती है। दो-तीन प्रतिशत लोग मजे लेते रहते हैं। राम मंदिर में आदिवासी राष्ट्रपति को बाहर कर दिया। गरीब, मजदूरों को कोई जगह नहीं मिली। गरीबों को उनका हक़ देने के बदले उनका ध्यान भटकाने का काम किया जाता है। इससे निकलने का रास्ता जाति जनगणना का क्रांतिकारी कदम है। जिस दिन आपको अपनी स्थिति का पता चल जाएगा उस दिन आप अपना काम दो मिनट में कर पाओगे। ये हिंदुस्तान आपका है, उन 1 प्रतिशत लोगों का नहीं।’

रायबरेली से यात्रा लखनऊ की तरफ निकली। लखनऊ में श्री गांधी और भारत जोड़ो न्याय यात्रा का शानदार स्वागत हुआ। हजारों लोगों ने श्री गांधी के स्वागत में सड़कों पर जाम लगा दिया था। पूरा लखनऊ शहर जैसे थम सा गया था। यहां राहुल गांधी ने एक सार्वजनिक सभा की। ‘हमारा नेता कैसा हो, राहुल गांधी जैसा हो’ इस नारे की गूंज के बीच राहुल ने बोलना शुरू किया। लोगों को संबोधित करते हुए श्री गांधी ने आर्थिक और सामाजिक न्याय के बारे में बात की। उन्होंने कहा- नोटबंदी और जीएसटी अदानी जी जैसे अरबपतियों को खत्म करने के लिए की गई थी। छोटे व्यापारियों को खत्म कर दिया गया। उत्तर प्रदेश के कोने कोने में युवा कहते हैं कि पेपर लीक से वो परेशान हैं। यहां के युवाओं के सामने सिर्फ प्रतियोगी परीक्षाओं का ही रास्ता है, जिसके लिए वो सालों तैयारी करते हैं। लेकिन परीक्षा के दिन सुबह पता चलता है कि पेपर ही लीक हो गया। अमीर बच्चे बिना पढ़े 100 प्रतिशत नंबर ले आते हैं और गरीब बच्चा देखता रह जाता है। गरीब, पिछड़ों के लिए सिर्फ मजदूरी का रास्ता है। अग्निवीर योजना पिछड़ों, गरीबों को बाहर निकालने की योजना है।’

इसके साथ ही उन्होंने जातिगत जनगणना और एमएसपी कानून के लागू करने का कांग्रेस पार्टी का वायदा दोहराया। उन्होंने कहा- ‘मैनिफेस्टो में हमने सबसे क्रांतिकारी काम लिख दिया है। जैसे ही हमारी सरकार आएगी हम जाति जनगणना लागू कर देंगे। दूसरा काम ये होगा कि किसानों को कांग्रेस पार्टी लीगल एमएसपी दिलवा देगी। हमें नफरत मिटाना है और भाईचारा वापस लाना है। ये देश मोहब्बत का देश है।’

इस संबोधन के बाद यात्रा बंथरा थाना की ओर निकल पड़ी। आज के रात्रि विश्राम की व्यवस्था वहीं पर की गई थी।

“देश का कोई भी व्यक्ति, जो अपने ऊपर अन्याय महसूस कर रहा है, जिसके ऊपर किसी भी तरह का अन्याय हो रहा है, वो न्याय योद्धा बन सकता है। अगर आप भी न्याय योद्धा बनना चाहते हैं तो 9891802024 पर मिस्ड कॉल करें।”

शेयर करें

Comments (1)

एक टिप्पणी छोड़ें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *