राहुल गांधी और न्याय यात्रा से घबराई यूपी सरकार

भारत जोड़ो न्याय यात्रा का 37वां दिन उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ से शुरू हुआ। यात्रा भगवान चुंगी चौराहा से शुरू होकर लालगंज चौक पहुंची। यूपी के युवाओं के बीच कांग्रेस की इस भारत जोड़ो न्याय यात्रा के लिए गजब का उत्साह दिखा। हजारों की संख्या में युवा अपनी बात रखने के लिए, कांग्रेस नेता से मिलने के लिए न्याय यात्रा के साथ-साथ चल रहे थे। लालगंज में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने जनसभा को संबोधित किया। युवाओं को संबोधित करते हुए श्री राहुल गांधी एक बार फिर केंद्र सरकार के खिलाफ जबर्दस्त बोले। उनके भाषणों में अब युवाओं के प्रति हो रहे अन्याय का रोष साफ दिखने लगा है। उनके बॉडी लैंग्वेज में देश के युवा का दुख झलक रहा है।

युवाओं का संबोधन आज राहुल गांधी ने आज नए अंदाज और जोश से किया। उन्होंने युवाओं से सीधा संवाद करते हुए कहा- ‘जब मैं आपसे मिलता हूं तो आप मुझे कहते हैं कि हम दलित हैं, हम आदिवासी हैं, हम पिछड़े हैं, आप हमारे लिए सपना देख रहे हो, आप चाहते हो कि कॉर्पोरेट हिंदुस्तान में हम भी जाएं, मगर हम में इस सपने को देखने का दम नहीं है। आप कह सकते हो कि हमने हार मान ली, राहुल गांधी ये सपना देख रहा है, मगर हम में वो क्षमता नहीं है, हम में वो कॉन्फिडेंस नहीं है कि हम हिंदुस्तान की सबसे बड़ी कंपनियों के मालिक बनें, आप कह सकते हो। मैं मानूंगा नहीं, मगर आप कह सकते हो।’

इतना ही नहीं उन्होंने युवाओं का जोश बढ़ाते हुए कहा कि- ‘आप लोग बोलो, जितना बोलना है आपको बोलो, कुछ फर्क नहीं पड़ता। बोलो जितना बोलना है। कुछ नहीं होगा। आप जितना चिल्लाना चाहते हो, चिल्ला लो। जितना आप कहना चाहते हो, अग्निवीर नहीं होगा, चिल्ला लो, कुछ फर्क नहीं पड़ने वाला,आप में दम नहीं है। अग्निवीर होगा, अग्निवीर होगा। क्यों? क्योंकि अडानी चाहता है, इसलिए अग्निवीर होगा, मोदी चाहता है, इसलिए अग्निवीर होगा। कैसे, क्या दम नहीं है आप में। आप चिल्लाते हो और कुछ नहीं करते। दम नहीं है आप में। 73 प्रतिशत में दम नहीं है।’

श्री गांधी के इस जोशीले भाषण ने युवाओं में एक नई ऊर्जा का तो संचार किया। भारत जोड़ो न्याय यात्रा और राहुल गांधी को युवाओं, महिलाओं सभी से मिल रहे इस जन समर्थन से केंद्र सरकार और पीएम नरेंद्र मोदी की रातों की नींद उड़ा रखी है। यही कारण है कि जब से राहुल गांधी ने न्याय यात्रा की शुरूआत की है, राज्यों की बीजेपी सरकार उन्हें परेशान करने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है।

असम में राज्य सरकार ने न्याय यात्रा में तमाम रोड़े अटकाए। कहीं परमिशन नहीं दिया तो कहीं छात्रों को और जनता को श्री गांधी से मिलने से रोकने की कोशिशें की। बिहार में यात्रा के पहुंचने से पहले कांग्रेस समर्थित सरकार गिरा दी। झारखंड पहुंचने के पहले वहां के तत्कालिन मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को षड़यंत्र के तहत गिरफ्तार करा दिया। और अब यूपी में न्याय यात्रा के आने के बाद से एक के बाद एक तिकड़म लगा रहे हैं। पहले काशी विश्वनाथ मंदिर में न्याय यात्रा से जुड़े कैमरापर्सन को अंदर जाने से अचानक मना कर दिया। फिर श्री गांधी के बाबा के दर्शन की एक भी फोटो नहीं दी। आज प्रतापगढ़ में उमड़े हुजूम से घबराकर अब एक पुराने मामले में राहुल गांधी की पेशी का समन जारी करा दिया है। इसी समन की वजह से कल राहुल गांधी सुबह की यात्रा के साथ नहीं रहेंगे। बल्कि वो दोपहर 2 बजे अमेठी के फुरसतगंज में यात्रा से जुड़ेंगे। कांग्रेस महासचिव श्री जयराम रमेश ने इस बारे में अपने एक्स (ट्विटर) पोस्ट में इसकी जानकारी दी।

दोपहर के विश्राम के लिए यात्रा प्रतापगढ़ के गांधी इंटर कॉलेज सांगीपुर में रूकी। इस दौरान कांग्रेस महाचिव श्री जयराम रमेश ने संवाददाताओं को संबोधित किया। जनगणना पर पूछे गए एक सवाल में जयराम रमेश ने कहा- ‘1871 से हर दस साल पर हमारे देश में जनगणना होती है। इस जनगणना में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अल्पसंख्यकों की आबादी का अनुमान किया जाता है, ओबीसी का नहीं। स्वतंत्र भारत में इस आधार पर पहली जनगणना 1951 में किया गया था। 2021 में ये जनगणना होनी चाहिए थी। लेकिन अभी तक जनगणना नहीं हुई है, 2024 आ गया है। बजट में भी कोई ऐसा संकेत नहीं दिया कि अगले साल भी जनगणना कराई जाएगी। क्योंकि इसके लिए बजट में प्रावधान होना जरूरी है।’

दोपहर के ब्रेक के बाद पुलिस लाइन, प्रतापगढ़ से न्याय यात्रा अमेठी की ओर निकल पड़ी। रास्ते में न्याय यात्रा और राहुल गांधी के स्वागत में उमड़े जनसैलाब को देख लग रहा था कि मानो पूरा अमेठी ही सड़क पर उतर आया हो। न्याय यात्रा की पहचान बन चुके लाल रंग की खुली जीप में सवार राहुल गांधी के आते ही स्थानीय लोगों की नारेबाजी से पूरा इलाका गूंज उठा। शाम को बाबूगंज, अमेठी में राहुल गांधी और कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे के साथ अमेठी में विशाल जनसभा को संबोधित किया।

श्री मल्लिकार्जुन खरगे और राहुल गांधी को सुनने के लिए भारी भीड़ मैदान में मौजूद थी। लोगों को संबोधित करते हुए श्री गांधी ने यूपी के युवाओं की आंखोंदेखी स्थिति को बयान किया- ‘कल मैंने देखा वाराणसी में यूपी की सच्ची हालत। वाराणसी में रात को हजारों युवा शराब पीकर सड़क पर लेटे हुए थे। बाजा बज रहा है, शराब पी-पी कर युवा वाराणसी में नाच रहे हैं। और सुबह दूसरे कुछ युवा मेरे पास आते हैं कागज दिखाते हैं और कहते हैं हमारी जिंदगी बर्बाद हो गई, पेपर लीक हो गया। एक पेपर नहीं, एक के बाद एक, एक के बाद एक जो भी पेपर यहां होता है, पेपर लीक हो जाता है। मेरे पास रोता हुआ युवा आता है, कहता है - राहुल जी, मैंने 5 लाख रुपए कोचिंग सेंटर को दिए, 5 लाख रुपए।’

राहुल गांधी यहीं नहीं रूके। उन्होंने अमेठी के युवाओं को भी सरकार से सवाल पूछने के प्रति जागरूक करते हुए कहा- ‘हमने अपने मैनिफेस्टो में लिख दिया है, कांग्रेस पार्टी लीगल गारंटी किसान को एमएसपी देगी और एक्स-रे करेगी। एक्स-रे होगा, जाति जनगणना होगी, सबको पता लग जाएगा इसमें पिछड़े कितने, दलित कितने, आदिवासी कितने, ग़रीब जनरल कास्ट के कितने। आपको रोज सुबह एक सवाल पूछना है। ये सोने की चिड़िया है। इसमें अंबानी को इतना पैसा मिला, अडानी को इतना पैसा दिया, आज सुबह इसने मुझे कितना दिया? यही सवाल पूछना है आपको और कोई सवाल ही नहीं है। जिस दिन 70 प्रतिशत ने ये सवाल पूछना शुरू कर दिया कि भाई, मेरी जेब में से हर रोज़ ये पैसा निकाल रहे हैं, जीएसटी जा रही है, पेट्रोल का पैसा जा रहा है, टैक्स मैं भर रहा हूं, जितना पैसा मैं देता हूं, उतना ही अडानी देता है, जितना टैक्स मैं देता हूं, उतना अडानी देता है, उसको लाखों करोड़ रुपए मिल जाते हैं, मुझे एक रुपया नहीं मिलता, क्यों?

राहुल गांधी के बाद कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने जनता को संबोधित किया। उन्होंने कहा- ‘अमेठी को पूरी दुनिया जानती है। हर देशवासी को अमेठी पर गर्व है, क्योंकि यह पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी, पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी की सेवा-साधना की धरती है। राहुल गांधी का अमेठी के साथ गहरा नाता है, वो आज भी अमेठी की जनता के साथ हैं और हमेशा साथ रहेंगे।’

खरगे ने कहा- ‘कांग्रेस सरकार में अमेठी को हजारों करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट दिए गए थे, लेकिन मोदी सरकार ने आते ही उन पर रोक लगा दी। मोदी सरकार अमेठी और रायबरेली के लोगों से दुश्मनी निकाल रही है। अमेठी में मेगा फूड पार्क का एक प्रोजेक्ट था, जिससे लाखों किसानों को फायदा होता, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी ने उसे बंद कर दिया।’

उन्होंने भी केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला और अपने चिर-परिचित अंदाज में पीएम मोदी को चैंलेंज किया। खरगे ने कहा- ‘प्रधानमंत्री मोदी 400 पार सीटों की बात कर रहे हैं, लेकिन उनकी 100 सीटें भी नहीं आएंगी। मोदी सरकार रोजगार की बात करती है, लेकिन आज देश में आंगनवाड़ी बहनों और आशा बहनों के दो लाख पद खाली हैं। जिनमें सिर्फ उत्तर प्रदेश में ही 60 हजार पद खाली हैं, लेकिन ये डबल इंजन की सरकार भर्ती नहीं कर रही है। देश के सरकारी विभागों में 30 लाख पद खाली हैं, लेकिन मोदी सरकार इन पदों पर भर्तियां नहीं कर रही। क्योंकि मोदी सरकार नहीं चाहती कि देश के ओबीसी, एससी, एसटी को नौकरी मिले।’

जनता को संबोधित करने के बाद यात्रा रात्रि विश्राम के लिए तेंदुआ, अमेठी की तरफ निकल पड़ी।

“देश का कोई भी व्यक्ति, जो अपने ऊपर अन्याय महसूस कर रहा है, जिसके ऊपर किसी भी तरह का अन्याय हो रहा है, वो न्याय योद्धा बन सकता है। अगर आप भी न्याय योद्धा बनना चाहते हैं तो 9891802024 पर मिस्ड कॉल करें।”

शेयर करें

Comments (1)

  1. Rahul kumar patwa

    टीचर को सर बिहार में बंधुआ मजदूर बना दिया है।
    पुराने शिक्षक को ऐसे दिखा रहा जैसे उन्हें कुछ आता ही नहीं बल्कि सच्चाई तो ये है की बीपीएससी पास गोबर गणेश सब भी कर गया ट्री 1 में और ओल्ड शिक्षक से मिसबिहेव करता है। जबकि सरकार ने tre 1 me 40-50 ke बीच मार्क पर रिजल्ट दे दिया शिक्षा का स्तर दिन प्रति दिन और बिहार में निम्न स्तर जा रहा है लेकिन कागज पे जबर्दस्ती लिखवा रहा सब बढ़िया हो रहा है ।और कोई आवाज उठाता तो ऊपर से पदाधिकारी धमकी देता है ।बिहार की हालत बहुत दयनीय है सर आपसे बहुत उम्मीद है । हम भी एक शिक्षक है प्राथमिक विद्यालय उमरचक दरभंगा में ।

एक टिप्पणी छोड़ें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *