राहुल गांधी: सोने की चिड़िया का कंट्रोल अब अदानी के हाथ में है

भारत जोड़ो न्याय यात्रा का 33वां दिन बिहार के औरंगाबाद से शुरू हुआ। आज की यात्रा में दोपहर 2 बजे निवर्तमान कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे और कांग्रेस नेता राहुल गांधी को औरंगाबाद के गांधी मैदान में विशाल जनसभा को संबोधित करना था। लेकिन विमान में तकनीकी खराबी की वजह से राहुल गांधी और श्री खरगे देर से कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे।

लेकिन खैर जैसा कि अब हम सभी को आदत ही हो गई है, चाहे कितनी भी देर हो जाए हजारों की संख्या में लोग राहुल गांधी को सुनने के लिए बेताबी से इंतजार करते रहते हैं। आज भी वैसा ही हुआ। हालांकि बिहार के प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अखिलेश प्रसाद सिंह और कई दिग्गज कांग्रेसी नेता मंच पर उपस्थित थे और लोगों की हौंसलाआफजाई कर रहे थे। बिहार में बारिश की वजह से मैदान पूरा गीला हो गया था लेकिन फिर भी कांग्रेस पार्टी के लिए लोगों का प्यार ही था कि लोग फिर भी अपनी जगह पर डटे रहे। लोगों ने धैर्य से राहुल गांधी का इंतजार किया।

राहुल गांधी के आयोजन स्थल पर पहुंचते ही हजारों लोगों की भीड़ से सिर्फ एक ही आवाज आने लगी- ‘कांग्रेस पार्टी जिंदाबाद’, ‘राहुल गांधी जिंदाबाद’। लोगों का उत्साह देखते ही बनता था। कांग्रेस नेताओं के स्वागत के बाद कांग्रेस अध्यक्ष श्री मल्लिकार्जुन खरगे ने सबसे पहले उपस्थित जनता को संबोधिक किया। इस बार कांग्रेस अध्यक्ष के निशाने पर सिर्फ केंद्र सरकार और पीएम नरेंद्र मोदी ही नहीं थे, बल्कि राज्य के नए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी थे।

कांग्रेस अध्यक्ष ने अपने भाषण की शुरूआत एक शायरी से की जिसके निशाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही थी। उन्होंने कहा- ‘मैं एक शेर से शुरू करता हूं…

नज़र नहीं है, नज़ारों की बात करते हैं,

ज़मी पर चांद सितारों की बात करते हैं,

वो हाथ जोड़कर बस्ती को लूटने वाले,

भरी सभा में सुधारों की बात करते हैं,

बड़ा हसीन है, उनके ज़ुबान का जादू,

लगा के आग बहारों की बात करते हैं,

मिली कमान तो अटकी नज़र खज़ाने पर,

नदी सूखाकर किनारों की बात करते हैं,

वही गरीब बनाते हैं आम लोगो को,

वही नसीब के मारों की बात करते हैं।

ये है मोदी जी का ज़माना, और ये सब जो भी मैंने कहा उनके लिए ही कहा। वो सिर्फ अमीरों की बात करते हैं, गरीबों के बारे में सोचते भी नहीं। गरीबों की बात करती है तो सिर्फ कांग्रेस पार्टी करती है।’

इसके बाद उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर भी हमला किया। उन्होंने कहा- ‘पटना में हमारे जो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी हैं उन्होंने कहा था कि मर जाऊंगा लेकिन कभी बीजेपी में नहीं जाऊंगा। लेकिन फिर आज कहां हैं वो? जो इंसान खुद कहता है कि मैं मर जाऊंगा लेकिन बीजेपी में नहीं जाऊंगा वो आज बीजेपी की झोली में बैठा है। उन्होंने हमसे महागठबंधन का वादा किया, हम पांच सालों में दस लाख लोगों को नौकरियां देंगे का भी वादा किया। यही बीजेपी उनको डरा-धमका कर अपने पास ले गई है। और ये जो गरीबों को वादा करके वोट लिए, वही आज गरीबों को लूटने वाली पार्टी के साथ जाकर मिल गए हैं।’

कांग्रेस अध्यक्ष के भाषण में इतना जोश शायद जनता की वजह से ही आया था। जनता लगातार नारे लगाए जा रही थी। उनकी ऊर्जा को देखकर श्री खरगे भी अपने पूरे शबाब पर नजर आ रहे थे। केंद्र सरकार और पीएम के झूठे बोल को याद कराते हुए उन्होंने कहा- ‘2015 के चुनाव में बिहार को मोदी जी ने 1 लाख 15 हजार करोड़ रूपया देने का वादा किया था लेकिन उसमें से एक भी रुपया आया नहीं। पहले आया राम, गया राम बोलते थे, लेकिन अब आया कुमार, गया कुमार हो गया है। ऐसे लोग मुल्क की कभी भलाई नहीं करते हैं। अच्छी बात कर सकते हैं, अच्छा बोल सकते हैं। लेकिन देश के लिए ये लोग कुछ नहीं करेंगे, ये मेरा दावा है। हमेशा भागीदारी की बात करने वाली RJD, Left, Congress किसी से डरने वाले नहीं हैं। भागने वाले नहीं हैं या आया राम गया राम करने वाले नहीं हैं।’

दिल्ली की सीमा पर किसानों के प्रदर्शन पर भी श्री खरगे ने केंद्र सरकार की जमकर आलोचना की और कहा- ‘दिल्ली में जो भी किसान लड़ रहे हैं उनके साथ हम खड़े हैं। हमने परसों ही कहा है कि अगर हमारी सरकार आएगी तो MSP गारंटी का कानून हम जरूर लाएंगे। और हम झूठ बोलने वालों में से नहीं हैं। जब लोगों को खाना नहीं मिलता था तब सोनिया गांधी के नेतृत्व में हमने हरित क्रांति लाकर फूड सिक्योरिटी एक्ट के तहत करोड़ों लोगों को खाना दिए। और आज मोदी जी कहते हैं 80 करोड़ लोगों को मैंने फ्री अनाज दिया। कहां से दिए? कानून हमारा, दिए हम और तुम पांच किलो चावल बढ़ाकर कहते हो कि हमने सबको फ्री अनाज दिया। दस साल आपकी हुकूमत को हो गए लेकिन अब चावल याद आया आपको? लेकिन हम जब इलेक्शन नहीं था तब भी चुनकर आने के बाद भी काम किया। फूड सिक्योरिटी एक्ट लाए, बच्चों की शिक्षा के लिए काम किए। पब्लिक सेक्टर यूनिट हमने बनाया, भाखड़ा नांगल बांध बनाया, ऐसे बड़े बड़े काम करके बताओ।’

‘हमने तो 72 हजार करोड़ रूपए की सब्सिडी दी। लेकिन मोदी ने तो कर्जा भी माफ नहीं किया। मोदी सिर्फ बोलते हैं कि मैं लोगों को सुख और समृद्धि से रखता हूं। जब छत्तीसगढ़ की सरकार, राज्य की तरफ से MSP की कीमत बढ़ा सकती है तो फिर बिहार में क्यों नहीं? ये सिर्फ कहते रहते हैं, करते कुछ नहीं हैं।’

कांग्रेस अध्यक्ष के बाद भारत जोड़ो न्याय यात्रा के नायक राहुल गांधी को अपनी बात रखने के लिए बुलाया गया। श्री गांधी ने भी एक बार फिर केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला। हालांकि देर से आने के लिए सबसे पहले उन्होंने उपस्थित लोगों से माफी मांगी। फिर अपने पुराने अवतार में दिखे।

उन्होंने कहा- ‘नरेंद्र मोदी जी ने सबसे अमीर लोगों का 14 लाख करोड़ रुपया का कर्जा माफ किया है। मनरेगा का एक साल का बजट 70 हजार करोड़ रुपए है। लेकिन गरीब लोगों के लिए चल रही इस योजना को सभी अमीर लोगों ने कहा कि इस योजना के कारण पैसे ज़ाया हो रहे हैं। पर अमीरों के 14 लाख करोड़ रुपया का कर्जा एक सेकेंड में माफ कर दिया जाता है। ये बात अखबार में भी नहीं आता क्योंकि सारे मीडिया चैनल अमीरों के हैं। जिधर भी आप देखोगे उधर आपको अन्याय ही अन्याय मिलेगा। आर्थिक अन्याय ये है कि 40 साल में सबसे ज्यादा बेरोजगारी।’

हमारे देश को सोने की चिड़िया कहा जाता था, इसकी याद भी श्री गांधी ने लोगों को दिलाई। हालांकि अब उस चिड़िया का कंट्रोल अंबानी और अदानी के पास है इससे भी आगाह कराया। उन्होंने कहा- ये देश सोने की चिड़िया कही जाती थी। हमारा देश आज भी सोने की चिड़िया है, लेकिन वो चिड़िया अब अदानी, अंबानी के हाथ में है। इसलिए जाति जनगणना से सभी को ये पता चल जाएगा कि गरीब जेनरल, पिछड़ों, आदिवासी के हाथ में कितना धन है। दूध का दूध, पानी का पानी हो जाएगा।’

MSP को लेकर किसानों के प्रदर्शन पर भी श्री गांधी जमकर बोले- ‘कुछ दिन पहले हमने एक ऐतिहासिक कदम उठाया। हिंदुस्तान के इतिहास में पहली बार हमने कहा कि कांग्रेस पार्टी हिंदुस्तान के हर किसान को लीगल गारंटी के साथ MSP दिलाएंगे। जब हमने जातिगत जनगणना की बात की तब मोदी जी ने कहना शुरू किया कि भारत में सिर्फ दो ही जाति है- अमीर और गरीब। पहले कहते थे मैं ओबीसी हूं। अब कहते हैं दो ही जात हैं।’

‘हमने MSP की बात की तो बीजेपी वाले कहने लगे कि कांग्रेस पार्टी तो ये कर ही नहीं सकती। पहले हमारे बारे में कहते थे कि कांग्रेस पार्टी किसानों का कर्जा माफ नहीं कर सकती। हमने 72 हजार करोड़ का कर्जा माफ करके दिखा दिया। यही भारत जोड़ो न्याय यात्रा का लक्ष्य है। हम सामाजिक न्याय, आर्थिक न्याय, इन चीजों की बात करें।’

कांग्रेस नेताओं के संबोधन के बाद न्याय यात्रा का काफिला रोहतास की ओर निकल पड़ा, जहां रात्रि विश्राम की व्यवस्था की गई थी।

“देश का कोई भी व्यक्ति, जो अपने ऊपर अन्याय महसूस कर रहा है, जिसके ऊपर किसी भी तरह का अन्याय हो रहा है, वो न्याय योद्धा बन सकता है। अगर आप भी न्याय योद्धा बनना चाहते हैं तो 9891802024 पर मिस्ड कॉल करें।”

शेयर करें

Comments (1)

एक टिप्पणी छोड़ें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *