Day 21: देश में दो ही जाति, लेकिन मोदी जी OBC!

भारत जोड़ो न्याय यात्रा झारखंड प्रवेश के दूसरे दिन, अन्याय के खिलाफ न्याय की अलख जगाने फिर से निकल पड़ी। सुबह यात्रा गोड्डा के सरकंडा से निकली। आज की यात्रा झारखंड के गोड्डा, दुमका, देवघर से होते हुए धनबाद पहुंची।

बंगाल और बिहार की तरह यहां भी हजारों लोगों की भीड़ न्याय यात्रा और श्री गांधी के इंतजार में खड़ी थी। यात्रा की शुरूआत आज श्री गांधी ने उपस्थित लोगों को संबोधित करने से की। अपने संबोधन में श्री गांधी ने एक बार फिर से केंद्र सरकार द्वारा किए जा रहे अन्याय की बात की। केंद्र सरकार की अनैतिक नीतियों के खिलाफ बोला। भूमि अधिग्रहण बिल के रद्द करने के मामले पर श्री गांधी केंद्र सरकार पर एक बार फिर से जमकर बरसे।

श्री गांधी ने कहा- ‘मैं और कांग्रेस पार्टी के लोग भूमि अधिग्रहण बिल लाए। हमने कहा कि अगर गरीब किसान से जमीन ली जाए, तो सबसे पहले पंचायत से पूछ कर ली जाए, उससे पूछ कर ली जाए और मार्केट रेट से चार गुना ज्यादा किसान को पैसा मिलना चाहिए। ये हमने कानून बनाया।

लेकिन सत्ता में आते ही पहला काम नरेंद्र मोदी जी ने किया, भूमि अधिग्रहण बिल को उन्होंने रद्द किया। हम आदिवासी बिल लाए, आपके यहाँ सरना कोड लाने की कोशिश की हमने, उन्होंने उसको नहीं लाने दिया। तो देखिए, सब लोगों के खिलाफ कहीं ना कहीं अन्याय हो रहा है।’

जनता को संबोधित करने के बाद न्याय यात्रा सकरी की तरफ बढ़ चली। सकरी में श्री गांधी ने आदिवासी नेताओं से मुलाकात की। उनका सम्मान किया और राज्य के विकास के बारे में बातचीत की। इसके बाद श्री गांधी से मिलने तीन लोग आए जिनकी जमीन तो सरकार ने ले ली। लेकिन बदले में जो देने का वायदा किया था वो आज तक वायदा ही है।

मामला कुछ यूं था कि गोड्डा में अदानी के बिजली परियोजना के लिए स्थानीय लोगों से सरकार ने जमीन ली थी। सरकार ने स्थानीय लोगों से वादा किया कि 75 प्रतिशत स्थानीय लोगों को रोजगार मिलेगा। पहले उन्हें स्किल इंडिया के तहत इलेक्ट्रिशियन का काम सिखाया जाएगा, फिर अप्रेंटिस। लेकिन बाद में पता चला कि अदानी की कंपनी में बिना बीटेक के नौकरी नहीं मिल सकती। इस तरह स्थानीय लोगों के साथ झूठ बोलकर उनके साथ अन्याय किया गया है।

अब यात्रा आगे देवघर की तरफ निकल पड़ी। बीच रास्ते में श्री गांधी का काफिला रूका और वहां उपस्थित लोगों से श्री गांधी ने संवाद किया। यहां भी श्री गांधी ने महंगाई, बेरोजगारी, युवाओं, किसानों से जुड़ी समस्याओं के बारे में लोगों को संबोधित किया। खास बात ये है कि आज पूरे दिन के झारखंड दौरे में बेरोजगारी को लेकर मोदी सरकार के खिलाफ युवाओं में ख़ासा रोष देखने को मिला।

दोपहर को यात्रा भोजन अवकाश के लिए यात्रा सरैयाहार, खिरधाना में रूकी। लंच ब्रेक के दौरान कांग्रेस महासचिव श्री जयराम रमेश ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। प्रेस को संबोधित करते हुए इंडिया गठबंधन के सवाल पर उन्होंने कहा- ‘इंडिया’ गठबंधन मजबूत है, सीट शेयरिंग की बातचीत चल रही है। शीघ्र ही औपचारिक तौर से घोषणा होगी, इसमें इकतरफा घोषणा नहीं हो सकती। जब गठबंधन में हैं, तो हम सभी को एक होकर घोषणा करनी है। महाराष्ट्र में अगर सीट शेयरिंग होगी, तो महाराष्ट्र में शिवसेना, एनसीपी, कांग्रेस पार्टी, सभी मिलकर एक स्टेटमेंट देंगे। ऐसे ही केरल में होगा, तमिलनाडु में होगा, उत्तर प्रदेश में होगा, पश्चिम बंगाल में भी होगा।

लंच ब्रेक के बाद न्याय यात्रा देवघर की तरफ निकल पड़ी, जहां श्री गांधी ने बाबा बैद्यनाथ धाम में पूजा-अर्चना की। श्री गांधी ने बाबा से देश व प्रदेश की खुशहाली के लिए कामना की। यहां से निकलकर श्री गांधी ने कुछ दूरी का रोड शो किया। जनता के अपार समर्थन और साथ के साथ न्याय यात्रा का काफिला लगातार मजबूत होता जा रहा है। वीर कुंवर सिंह चौक पर श्री गांधी ने उपस्थित लोगों को संबोधित किया। एक बार फिर से श्री गांधी दहाड़े और केंद्र सरकार को उसकी नीतियों के लिए जमकर घेरा।

श्री गांधी ने कहा- ‘जैसे किसी को चोट लगती है तो एक्स-रे होता है, वैसे ही हिंदुस्तान का एक्स-रे होना चाहिए, जाति जनगणना होनी चाहिए। पता चलना चाहिए कि इस देश में दलित कितने हैं, पिछड़े कितने हैं, अल्पसंख्यक कितने हैं, सामान्य वर्ग वाले कितने हैं। न्याय देने का पहला कदम वही है। अगर हमें पता ही नहीं है कि देश में कितने आदिवासी, दलित, अल्पसंख्य, पिछड़े हैं तो फिर न्याय की बात कैसे हो सकती है। जैसे ही हमने जाति जनगणना की बात की, वैसे ही नरेंद्र मोदी कहते हैं कि देश में कोई जात नहीं। देश में सिर्फ दो जाति है, एक गरीब और दूसरा अमीर। अगर देश में सिर्फ दो ही जात है मोदी जी तो फिर आप ओबीसी कहां के? आप ओबीसी कैसे बन गए?’

श्री गांधी के धमाकेदार भाषण के बाद काफिला धनबाद की तरफ चल पड़ा। धनबाद के हलकाटा में न्याय यात्रा के रात्रि विश्राम की व्यवस्था की गई थी।

“देश का कोई भी व्यक्ति, जो अपने ऊपर अन्याय महसूस कर रहा है, जिसके ऊपर किसी भी तरह का अन्याय हो रहा है, वो न्याय योद्धा बन सकता है। अगर आप भी न्याय योद्धा बनना चाहते हैं तो 9891802024 पर मिस्ड कॉल करें।”

शेयर करें

एक टिप्पणी छोड़ें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *