Day 18: जय जवान- लेकर रहेगा युवा न्याय

आज की भारत जोड़ो न्याय यात्रा कटिहार से मालदा, पश्चिम बंगाल के लिए थी। यात्रा शुरू करने से पहले श्री राहुल गांधी ने न्याय यात्रा की बस को एक ट्रेनिंग ग्राउण्ड में रूकवाया। यहां पर अग्निवीर में भर्ती के लिए कई युवक तैयारी कर रहे थे। श्री गांधी ने 10-12 अभ्यर्थियों से बात की। उनकी मुश्किलों के बारे में जाना। युवकों ने श्री गांधी से अग्निपथ अभियान के अन्यायपूर्ण तरीके के बारे में बात की। उन्होंने इस अग्निवीर अभियान शुरू करने के पीछे की असलियत पर भी बात की। साथ ही उन्होंने मोदी सरकार द्वारा युवाओं पर किए जा रहे अन्याय के बारे में भी बताया।

कटिहार के शहीद चौक से श्री गांधी का रोड शो शुरू हुआ जो करीब 2 किलोमीटर दूर डीएस कॉलेज तक चला। श्री गांधी को लगातार अपनी पदयात्रा को स्थगित कर रोडशो करना पड़ रहा है। अप्रत्याशित तौर पर भीड़ के इकट्ठा हो जाने की वजह से सुरक्षाकर्मी भी एहतिहात बरत रहे हैं।

डीएस कॉलेज के पास रूककर श्री गांधी ने उपस्थित जनता को संबोधित कर फिर से केंद्र सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा- ‘कोई भी देश बिना भाईचारे के प्रगति नहीं कर सकता है। मोहब्बत के बिना कोई देश आगे नहीं जा सकता है। BJP और RSS के लोग देश में नफरत फैलाते जा रहे हैं। इसलिए कांग्रेस पार्टी और INDIA गठबंधन उनके सामने खड़ा है और हम उन्हें नफरत नहीं फैलाने देंगे।’ सत्ताधारी पार्टी के नफरत की राजनीति के खिलाफ कांग्रेस पार्टी और श्री गांधी के मोहब्बत की दुकान को जनता हाथों हाथ ले रही है। श्री गांधी के प्यार, मोहब्बत और भाईचारे की अपील पर हर जगह जनता का जबर्दस्त साथ मिलता है। तालियों की आवाज से पूरा इलाका गूंज उठता है।

कांग्रेस के पांच न्याय के सिद्धांत में से एक सामाजिक भागीदारी के न्याय के बारे में भी उन्होंने जनता को बताया और कहा- ‘हमने भारत जोड़ो यात्रा में न्याय शब्द जोड़ा है। और न्याय शब्द के पीछे, आर्थिक न्याय और सामाजिक न्याय है। सामाजिक न्याय का अगला क्रांतिकारी कदम है जाति जनगणना। ओबीसी कितने हैं और उनके पास कितना धन है। आदिवासी कितने हैं, उनके पास कितना धन है। दलित, पिछड़े, अल्पसंख्यक और सवर्ण कितने हैं। सवर्ण के पास कितना धन है, उनमें अमीर कितने हैं, गरीब कितने हैं। हम चाहते हैं कि गरीब, कमजोर लोगों को इसका फायदा मिले।’

जनसभा को संबोधित करने के बाद यात्रा अपने गंतव्य की तरफ चल पड़ी। दोपहर को यात्रा बिहार-बंगाल की सीमा पर पहुंची। मालदा में आयोजित एक कार्यक्रम में बिहार प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष ने राष्ट्रीय ध्वज को पश्चिम बंगाल प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष को सौंप दिया। श्री राहुल गांधी ने यहां बस पर चढ़कर लोगों का अभिवादन किया और फिर ध्वज हस्तांतरण कार्यक्रम में शामिल हुए।

सिलिगुड़ी, बिहार के बाद अब मालदा में भी लाखों लोगों का हुजूम श्री गांधी के साथ जुड़ा। लोग का उत्साह देखने लायक था। जिधर नजर जाए उधर लोग ही लोग। न्याय यात्रा की बस को चलने तक की जगह नहीं मिल रही थी। लोगों का हुजूम सिर्फ श्री गांधी को देखने के लिए घंटो रास्ते पर खड़ा था। आलम ये था कि श्री गांधी के 45 किलोमीटर के रोडशो में जहां 2 घंटे से ज्यादा का समय नहीं लगना चाहिए था, वहां न्याय यात्रा की बस को घंटों लग गए। हर गांव जहां से भी न्याय यात्रा की बस निकली लोगों की भीड़ बस को घेर लेती। आगे एक इंच भी चलना मुश्किल होता। बिना श्री गांधी से हाथ मिलाए, उनकी एक झलक लिए बगैर भीड़ रास्ते से हटने के लिए तैयार नहीं होती।

लोगों के हुजूम के साथ साथ ही न्याय यात्रा का काफिला देबीपुर में रूका। यहां पर लंच ब्रेक के लिए न्याय यात्री रूके। लंच के दौरान ही कांग्रेस महासचिव श्री जयराम रमेश और युवा कांग्रेस नेता कन्हैया कुमार ने प्रेस को संबोधित किया। प्रेस को संबोधित करते हुए कन्हैया कुमार ने सरकार की अग्निपथ योजना की कड़ी निंदा की।

सरकार के इस कदम की आलोचना करते हुए कन्हैया कुमार ने कहा- ‘अग्निपथ योजना सरकार आनन-फानन में लाई है। इसके लिए रक्षा समिति, संसद, रक्षा विशेषज्ञ, पक्ष-विपक्ष किसी से भी सलाह-मशविरा नहीं किया गया। पुरानी जो भर्तियां चल रही थी उनको अचानक ही बंद कर दिया गया। जिसके कारण 1.5 लाख जो पहले ही सेलेक्ट हो गए थे उनको नियक्ति पत्र नहीं दिए गए। ये सभी लगातार संघर्ष कर रहे हैं। जवान हमारी सुरक्षा व्यवस्था की बुनियाद होते हैं उनसे जुड़ी हुई अग्निपथ योजना है। ये देशभर में बेरोजगारी का सवाल है।’

इस मौके पर कांग्रेस पार्टी के ‘जय जवान’ मुहिम को लॉन्च किया और इसका पोस्टर भी जारी किया। इस मुहिम में अग्निपथ योजना से पीड़ित युवाओं के पक्ष में आवाज उठाई जाएगी। साथ ही सरकार से कुछ मांगे रखी गई हैं। पोस्टर में एक ‘बार कोड’ है, जिसको स्कैन करके कोई भी इस मुहिम से जुड़ सकता है। इसकी वेबसाइट www.jayjawan.inपर जाकर या फिर मिस्ड कॉल करके भी युवा अपनी समस्या को हमारे सामने रख सकते हैं। मिस्ड कॉल के लिए नंबर- 9999812024 है। कांग्रेस पार्टी की तरफ से युवाओं से अपील की जाती है कि रोजगार से जुड़ा हुआ या आपकी भर्ती से जुड़ा हुआ और अग्निपथ योजना की वजह जिनको नौकरियां नहीं मिली हैं, जो लोग संघर्ष कर रहे हैं, आंदोलन कर रहे हैं, वो तमाम लोग इस मुहिम से जुड़ें।

लंच ब्रेक के बाद यात्रा आगे के लिए निकल पड़ी। लाखों लोगों के हुजूम के साथ न्याय यात्रा मालदा के इंग्लिश बाजार की तरफ कूच कर रही थी। इतनी बड़ी संख्या में लोगों के होने से सुरक्षा में भी दिक्कतें आईं। ऐसा लग रहा था मानो न्याय यात्रा के साथ चलने के लिए मालदा के हर घर से लोग निकल पड़े थे। ये एक स्वत:स्फूर्त हुजूम था, जो मोदी सरकार के अन्याय के खिलाफ कांग्रेस पार्टी के इस यज्ञ में अपनी उपस्थिति दिखाना चाहता था। मालदा पहुंचकर श्री गांधी को बस के बजाए जीप में बिठाकर रोडशो कराया गया। बस पीछे पीछे चल रही थी। हालांकि बस हमारी न्याय यात्रा की पहचान बन चुकी है। और हर तरफ लोगों में श्री गांधी को देखने के साथ-साथ इस बस के भी दर्शन को आतुर रहते हैं। आज बस के काफिले में कांग्रेस पार्टी के युवा नेता कन्हैया कुमार की उपस्थिति से भी भीड़ में खासा उत्साह दिखा। श्री कन्हैया जैसे ही बस के सामने आए जनता ने ‘बिहार का शेर’ का नारा लगाना शुरू कर दिया।

शाम को काफिला इंग्लिश बाजार पहुंचा। यहां श्री गांधी ने उपस्थित हजारों की भीड़ को संबोधित किया। भारत जोड़ो न्याय यात्रा के स्तम्भ पांच न्याय के बारे में लोगों को बताया- ‘सामाजिक न्याय जिसका सबसे बड़ा कदम जाति जनगणना होगा, उसको हमने करने का निर्णय लिया है। हमारी सरकार आएगी तो हम पूरे देश में जाति जनगणना करेंगे। पता लगाएंगे कि देश में पिछड़े कितने हैं, दलित कितने हैं, अल्पसंख्यक कितने हैं, ओबीसी कितने हैं, आदिवासी कितने हैं। हम आपके सामने पांच न्याय रखना चाहते हैं।

आर्थिक न्याय,
सामाजिक न्याय,
किसानों के लिए न्याय,
श्रमिक/मजदूरों के लिए न्याय और
नारी के लिए न्याय।’

अंत में उन्होंने उपस्थित जनता से अपील भी की कि वो नफरत की इस लड़ाई में साथ खड़ें हों। उन्होंने कहा- बंगाल के हर नागरिक से कहना चाहता हूं कि आप पूरे देश को रास्ता दिखाते हो। बंगाल से बड़े-बड़े बैद्धिक लोग आए हैं- रबिन्द्रनाथ टैगोर, अमर्त्य सेन, सुभाष चंद्र बोस आए हैं, सबसे ज्यादा नोबेल आपके राज्य को मिले हैं, तो आपकी ये जिम्मेदारी बनती है कि विचारधारा की इस लड़ाई में आपको खड़ा होना पड़ेगा। RSS-BJP की नफरत की विचारधारा के आगे आपको खड़ा होना पडे़गा और लड़ना पड़ेगा।’

हजारों की संख्या में मौजूद लोगों का अभिवादन करने के बाद यात्रा रात्रि विश्राम के लिए अपने कैंप साइट की तरफ चल पड़ी।

“देश का कोई भी व्यक्ति, जो अपने ऊपर अन्याय महसूस कर रहा है, जिसके ऊपर किसी भी तरह का अन्याय हो रहा है, वो न्याय योद्धा बन सकता है। अगर आप भी न्याय योद्धा बनना चाहते हैं तो 9891802024 पर मिस्ड कॉल करें।”

शेयर करें

एक टिप्पणी छोड़ें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *