Day 15: हर कामगार के सपने हों पूरे, उनका सम्मान हो

दो दिन के ब्रेक के बाद भारत जोड़ो न्याय यात्रा आज फिर से शुरू हो गई। आज की यात्रा बंगाल के सिलीगुड़ी से शुरू होनी थी। इसके लिए कांग्रेस नेता और भारत जोड़ो न्याय यात्रा के सारथी श्री राहुल गांधी सुबह करीब 11.30 बजे बागडोगरा एयरपोर्ट पर उतरे। उत्तर पूर्व राज्यों की तरह ही जलपाईगुड़ी में भी श्री गांधी के साथ हजारों लोगों का काफिला जुड़ गया।

जलपाईगुड़ी में श्री गांधी की पदयात्रा सुनिश्चित थी लेकिन भारी भीड़ और संकरी सड़क के चलते उन्हें मजबूरन गाड़ी छत पर बैठकर रोड शो ही करना पड़ा। ये रोडशो जलपाईगुड़ी से कदमलता चौक तक चला। उसके बाद जलपाईगुड़ी से सिलीगुड़ी तक की बस यात्रा शुरू हुई। पूरे रोडशो के दौरान श्री गांधी के साथ हजारों लोगों की भीड़ साथ रही। पूरे रास्ते जश्न सा माहौल था, लोग सड़क के दोनों ओर तो थे ही, घरों के छतों पर, पेड़ पर चढ़कर हर कोई श्री गांधी की एक झलक पाना चाहता था। यहां तक कि दुकानदारों ने अपनी दुकानें खुली छोड़ दी यात्रा के साथ चल पड़े। पश्चिम बंगाल के लोगों से इस जोरदार समर्थन ने बीजेपी को और डरा दिया है। इस यात्रा में भी श्री गांधी से कई लोग मिलने आए। ‘नो वोट फॉर बीजेपी’ नाम की संस्था से जुड़े लोग और कार्यकर्ता उनसे मिले। उन्होंने श्री गांधी से मिलकर बीजेपी और उनके एजेंडा का पुरजोर विरोध किया। साथ ही बीजेपी और RSS की देश को बांटने की राजनीति के खिलाफ भी अपनी बात रखी।

उत्तर बंगाल के लोगों के विकास और जीवनस्तर को बेहतर बनाने के लिए काम करने वाले लोगों का एक प्रतिनिधिमंडल भी श्री गांधी से मिला। उन्होंने उत्तर बंगाल के मुद्दों पर श्री गांधी को ज्ञापन सौंपा और उत्तर बंगाल के लोगों को होने वाली परेशानियों के बारे में श्री गांधी को विस्तार से बताया।

चाय बगान में काम करने वाले कामगारों ने भी श्री गांधी से मुलाकात की। उन्होंने भी श्री गांधी को अपनी दिक्कतों के बारे में बताया। कम वेतन और ठेकेदारों द्वारा किए जा रहे शोषण से भी श्री गांधी को अवगत कराया।

सिलीगुड़ी पहुंचने पर श्री गांधी और भारत जोड़ो न्याय यात्रा का जबर्दस्त स्वागत हुआ। हजारों लोगों के बीच काफिला चला। यहां भी श्री गांधी को पदयात्रा करनी थी लेकिन लोगों की भीड़ को देखते हुए फिर से कार की छत बैठकर रोडशो ही उन्हें करना पड़ा। सिलीगुड़ी में स्थानीय कलाकारों के एक ग्रुप ने श्री गांधी का स्वागत ढाक की थाप से किया गया। ये ग्रुप 2 किलोमीटर तक के रोडशो में काफिले के आगे चलता है। सिलीगुड़ी की जनता के ऐसे स्वागत ने सभी को हैरान कर दिया।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और महासचिव श्री जयराम रमेश ने कुछ विशेष लोगों से मुलाकात के बारे में अपने एक्स (ट्विटर) पर लिखा- ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा के सिलीगुड़ी में विशेष रूप से सफल 15वें दिन का एक महत्वपूर्ण हाइलाइट था स्थानीय वकील संघ से मिलना। इन्होंने न्याय के अपने दृष्टिकोण का प्रदर्शन किया— निष्पक्ष और संतुलित। अन्याय-काल के 10 वर्षों के बाद, न्याय के हमारे दृष्टिकोण को देशभर में समाज के सभी वर्गों के लोगों का साथ मिल रहा है।’

सिलीगुड़ी पहुंचने पर श्री गांधी ने फिर से रोड शो किया। यहां भी हजारों लोगों का हुजूम न्याय यात्रा के साथ जुड़ने के लिए बेताब था। सड़क पर हर तरफ युवा, बुजुर्ग, स्त्री, पुरूष और बच्चों का जमावड़ा लगा था। हजारों की उस भीड़ को कार की छत से ही श्री गांधी ने संबोधित किया। श्री गांधी ने बीजेपी सरकार की अनीतियों पर कड़ा हमला किया और लोगों को कहा कि कांग्रेस पार्टी का एकमात्र लक्ष्य है कि हर युवा अपने सपने को पूरा कर पाए। उन्होंने कहा- ‘टोयोटा कंपनी का मालिक जापान में मैकेनिक था। लेकिन उसने मेहनत की और धीरे धीरे अपनी कंपनी बना ली। लेकिन हिंदुस्तान में ऐसा नहीं हो सकता। अगर कोई मैकेनिक ऐसा सपना देखेगा तो लोग उसका मजाक उड़ाएंगे। हम ऐसा हिंदुस्तान बनाना चाहते हैं जहां जो काम करता है उसकी इज्जत हो। लेकिन आजकल जो दलाली करता है उसकी इज्जत है और जो काम करता है उसकी इज्जत नहीं है।’

श्री गांधी ने भारत की आजादी के आंदोलन में बंगाल के लोगों के योगदान की भी बात की। उन्होंने उपस्थिल लोगों से आह्वान किया कि- ‘बंगाल एक स्पेशल जगह है। जब अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई हो रही थी तो आइडियोलॉजिकल काम बंगाल के लोगों ने किया था। मतलब आप इंटेलेक्चुअल लोग हो, लोगों को साथ लेकर चलने वाले लोग हो। तो आपकी भी ये जिम्मेदारी बनती है कि आप देश को रास्ता दिखाएं। पहले रविंद्रनाथ ने किया, सुभाष चंद्र बोस ने किया, विवेकानंद ने किया, अब आपकी बारी है। और इसके लिए अकेले नहीं लड़ना है, सभी को एक साथ खड़े होकर तस्वीर बदलने में मेहनत करनी है।’

हजारों की तादाद में मौजूद लोगों ने जिस जोश और प्यार से भारत जोड़ो न्याय यात्रा का स्वागत किया उसके लिए भी श्री गांधी ने वहां मौजूद जनता को धन्यवाद किया और कहा कि- ‘ऐसा स्वागत मुझे कहीं नहीं मिला है। इसे मैं जीवनभर नहीं भूल पाउंगा।’

इसके बाद रात्रि विश्राम के लिए भारत जोड़ो न्याय यात्रा का काफिला उत्तर दिनाजपुर के सोनापुर की तरफ चल पड़ा।

“देश का कोई भी व्यक्ति, जो अपने ऊपर अन्याय महसूस कर रहा है, जिसके ऊपर किसी भी तरह का अन्याय हो रहा है, वो न्याय योद्धा बन सकता है। अगर आप भी न्याय योद्धा बनना चाहते हैं तो 9891802024 पर मिस्ड कॉल करें।”

शेयर करें

एक टिप्पणी छोड़ें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *