Day 11: सुपारी के बिजनेस से असम का CM पैसा बनाता है

भारत जोड़ो न्याय यात्रा का ग्यारहवां दिन बिष्णुपुर में रात्रि विश्राम के बाद मदन गोपाल गोहेन थान के दर्शन से शुरू हुआ। गोहेन थान में श्रद्धांजलि अर्पित करके सैंकड़ों लोगों के साथ श्री गांधी का काफिला ग्यारहवें दिन के सफर को पूरा करने कार में निकल पड़ा। बस यात्रा बारपेटा बस स्टैंड से शुरू होनी थी। यहां पहुंचकर श्री गांधी ने कार की छत पर से ही उपस्थित हजारों लोगों की भीड़ को संबोधित किया।

एक बार फिर असम के मुख्यमंत्री पर हमला करते हुए उन्होंने कहा- ‘पिछली यात्रा में हमें लाखों लोगों ने कहा कि हिंदुस्तान में नफरत का काम नहीं है, मोहब्बत का काम है। बीजेपी के लोग नफरत से भरे हैं, नरेंद्र मोदी, अमित शाह और आपके सीएम सुबह उठते हैं और उनके दिल में से नफरत निकलती है। हमारी लड़ाई उनसे नहीं है, लड़ाई उनके दिल में जो नफरत है उससे है। नफरत को नफरत कभी नहीं काट सकती। नफरत को सिर्फ मोहब्बत से ही काटा जा सकता है। एक बात और है कि नफरत के पीछे डर छुपा होता है।’

श्री गांधी ने एक बार फिर से असम के मुख्यमंत्री पर तीखा हमला किया। उन्होंने कहा कि- ‘यहां आपके सीएम चौबीस घंटा नफरत फैलाते हैं। लेकिन बात यहीं नहीं रूकती है। जैसे ही राज्य में डर का माहौल बनता है, आपके सीएम आपकी जमीन चोरी कर लेते हैं। आप पान खाओ, सुपारी का बिजनेस उनका। आप काजीरंगा में घूमने जाओगे, गैंडे (राइनो) देखने जाओगे और पता चलेगा कि आस-पास की सारी जमीन सीएम की है।’

कल यानी भारत जोड़ो न्याय यात्रा के दसवें दिन गुवाहाटी में हुई झड़प के बाद असम के सीएम ने श्री गांधी पर FIR दर्ज करा दी है। इसके बारे में भी कांग्रेस नेता ने हिमन्त बिस्व सरमा को ललकारा- ‘मेरे ऊपर जितने केस डालने हैं डाल दो, अभी 20-25 केस डाले हैं, 20-25 और डाल दो। लेकिन राहुल गांधी BJP-RSS और HBS से नहीं डरता।’

उस बच्चे से श्री गांधी ने पूछा- स्पोर्ट्स खेलते हो?

बच्चा- खेलता हूं।

राहुल गांधी- क्या खेलते हो?

बच्चा- क्रिकेट, हॉकी, फुटबॉल सब खेलता हूं।

राहुल गांधी- अच्छा तो फिर मसल्स दिखाओ।

श्री गांधी के इतना कहते ही बच्चा अपने बाजू की ताकत दिखा देता है। आसपास खड़ी भीड़ इस प्यारी सी बातचीत से खुश हो तालियां बजाने लगती है।

श्री गांधी से कुछ प्रतिनिधिमंडल के लोग भी मिलने आए। मिट्टी के कटाव से प्रभावित लोगों के प्रतिनिधिमंडल ने उन्हें अपनी मुश्किलें बताई। भारत जोड़ो न्याय यात्रा बारपेटा पहुंच चुकी है। ये खासतौर पर मिट्टी के कटाव से बहुत ज्यादा प्रभावित इलाका है। इनके साथ कुछ मुस्लिम परिवार भी थे जो मिट्टी के कटाव के कारण विस्थापन की मुश्किल का सामना कर रहे हैं। एक आंकड़े के मुताबिक पिछले पांच साल में एक लाख एकड़ जमीन बाढ़ में बह चुकी है और इससे 1991 घर बर्बाद हुए हैं। साल 2022 में असम में विभत्स बाढ़ की समस्या हुई थी। इस बाढ़ में 2500 करोड़ रूपए के जनजीवन का नुकसान हुआ था। लेकिन राज्य या फिर केंद्र सरकार की तरफ से एक रूपए की भी सहायता राशि पीड़ितों को प्राप्त नहीं हुई। नदियों के बालू से जो क्षेत्र बने भी हैं वो कटाव के मूल जगह से बहुत दूर हैं, उन बालू क्षेत्रों को राज्य सरकार ने सरकारी जमीन घोषित कर दी है। इतना ही नहीं, राज्य सरकार के अन्याय का आलम ये है कि वो पीड़ितों को बांग्लादेशी घोषित करके उन्हें सहायता राशि देने से इंकार कर रही है।

रास्ते में श्री गांधी को कुछ स्कूली बच्चे दिखे जिन्हें उन्होंने बस में बिठा लिया। क्या वो स्कूल जाते हैं? कौन सा विषय पढ़ना उन्हें सबसे ज्यादा पसंद है? उनके पसंदीदा शिक्षक कौन हैं जैसे हल्की फुल्की बातें उन बच्चों से की। बच्चों ने श्री गांधी से इंग्लिश सीखाने की गुजारिश की। इस पर श्री गांधी ने उन्हें अंग्रेजी के कुछ शब्द भी सिखलाए।

बारपेटा से काफिला अभयपुरी पहुंचा। अभयपुरी में श्री गांधी के रोड शो में हजारों लोगों का काफिला साथ चला। दोपहर के विश्राम के लिए यात्रा बोंगाईगांव के उत्तरी सलमारा में रूकी। यहां पर कांग्रेस महासचिव श्री जयराम रमेश ने मीडिया को संबोधित किया। अपने संबोधन में उन्होंने कल श्री राहुल गांधी द्वारा न्याय यात्रा के पांच स्तम्भ की घोषणा के बारे में विस्तार से बात की और पत्रकारों के सवालों का जवाब दिया।

लंच ब्रेक के बाद यात्रा अपने अगले पड़ाव चालबंदा गांव की तरफ चल पड़ी। चालबंदा, धुबरी में भी श्री गांधी के इंतजार में हजारों की भीड़ जमा थी। आलम ये था कि भीड़ की वजह से न्याय यात्रा का काफिला अपने तय से बहुत पीछे चल रहा था। लोगों की भीड़ ने चालबंदा की सड़क को जाम कर दिया था। जिधर नजर फैलाओ लोग ही लोग थे। हवा में कांग्रेस का झंडा और सभी के माथे पर गांधी टोपी ही दिख रही थी। श्री गांधी ने यहां एक जनसभा की।

उन्होंने कहा- ‘असम में देश का सबसे भ्रष्ट सीएम है। आप सुबह उठते हैं, चाय गरम करने के लिए चूल्हे में कोयला डालते हो, उसे जलाते हो, कोयला आपके सीएम का। उस कोयले में से आपके सीएम के जेब में पैसा जा रहा है। चाय पीते हो, चाय के बगान आपके सीएम के, अखबार पढ़ते हो, टीवी देखते हो, टेलीविजन और अखबार आपके सीएम के। सड़कों पर चलते हो, ब्रह्मपुत्र के पुल को पार करते हो उसमें से पैसा आपके सीएम को मिलता है। आप पान खाते हो, उसके अंदर में जो सुपारी है उसमें से भी आपका सीएम पैसा बनाता है। और कभी अगर आप काजीरंगा में गैंडा (राइनो) देखने जाना होगा तो पता लगेगा कि वहां भी आपके सीएम का एक रिसॉर्ट है। राइनो देखना हो तब भी उनके रिसॉर्ट में जाकर राइनो देखो।’

जनसभा के संबोधन के बाद भारत जोड़ो न्याय यात्रा गौरीपुर की तरफ चल पड़ी जहां यात्रा के आज रात के विश्राम की व्यवस्था की गई है।

“देश का कोई भी व्यक्ति, जो अपने ऊपर अन्याय महसूस कर रहा है, जिसके ऊपर किसी भी तरह का अन्याय हो रहा है, वो न्याय योद्धा बन सकता है। अगर आप भी न्याय योद्धा बनना चाहते हैं तो 9891802024 पर मिस्ड कॉल करें।”

शेयर करें

एक टिप्पणी छोड़ें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *